Nagpur ‘संतरों की नगरी’ | नागपुर किन बातों के लिए प्रसिद्ध है ? best places to visit in Nagpur 2022 | Orange City

संतरों की नगरी ‘नागपुर’ की कुछ खास बातें | Why is Nagpur famous ? नागपुर का इतिहास | Nagpur ko Orange City kyun kaha jata hai ? about Nagpur | नागपुर में घूमने लायक जगहें और प्रसिद्ध हस्तियाँ | best places to visit in Nagpur | Santaron ki Nagari 

हमारा देश भारत अपनी विविधताओं के लिए पूरी दुनिया में जाना जाता है। यहाँ गाँव से लेकर शहर तक अपनी अलग-अलग विशेषताएँ रखते हैं। उन्हीं में से एक शहर नागपुर (Nagpur) भी है। नागपुर जो भारत में ‘संतरों की नगरी’ या ‘संतरों का शहर’ नाम से प्रसिद्ध है, क्यूंकि यहाँ संतरों की पैदावारी होती है। लेकिन केवल संतरे ही इस शहर की प्रसिद्धि की एकमात्र वजह नहीं हैं। शहर की सुंदरता, पर्यटकों के लिए भ्रमण योग्य स्थान और भी बहुत कुछ चीज़ें जो नागपुर को आकर्षण के केंद्र बनाते हैं। इस लेख में santaron ki nagari ‘Nagpur’ के संक्षिप्त इतिहास, घूमने लायक जगहों से लेकर चर्चित हस्तियों तक आप जानेंगे सब कुछ। एक शहर जो मुंबई और पुणे के बाद, महाराष्ट्र राज्य का तीसरा प्रमुख शहर है, यहाँ तक कि इसे राज्य की उपराजधानी से भी जाना जाता है। आइए इस शहर के बारे में थोड़ा विस्तार से जानते हैं।

Table of Contents

नागपुर का संक्षिप्त इतिहास (History of Nagpur)

नागपुर शहर का इतिहास लगभग 300 साल पुराना है। इस शहर की स्थापना अठारहवीं शताब्दी के आरम्भ में गोंड वंश के राजा और देवगड़ (छिंदवाड़ा) के शासक बख्त बुलंद शाह द्वारा की गई थी। 1761 ई. के बाद पेशवा बाजीराव प्रथम के समय नागपुर के रघुजी भोंसले स्वतंत्र रूप से इस पर शासन करने लगे जिसे उन्होंने पहले ही अपनी राजधानी घोषित की थी। आज भी नागपुर में भोंसले वंश के शासनकाल का एक दुर्ग तथा अन्य भवन स्थित हैं। 1817 ई. में नागपुर ब्रिटिश प्रभाव में आ गया, उस समय यह मध्य भारत की एक रियासत हुआ करती थी। 1854 ई. में लॉर्ड डलहौजी ने नागपुर को ब्रिटिश साम्राज्य का अंग बना दिया। चूंकि वहाँ कोई शासक के रूप में उत्तराधिकारी नहीं था इसलिए वहां के राजवंश के कीमती रत्‍‌न-आभूषणों को नीलाम कर दिया गया।

ब्रिटिश काल से लेकर स्वतंत्र भारत होने के बाद तक नागपुर, भारत के मध्य प्रांत की राजधानी बना रहा। 1960 के बाद यहाँ मराठी बोलने वालों की आबादी को देखते हुए इसे महाराष्ट्र राज्य का एक जिला घोषित किया गया। भाषा के आधार पर हुए राज्य पुनर्रचना ने नागपुर को महाराष्ट्र का हिस्सा और उसकी उपराजधानी बना दिया। santaron ki nagari के रूप में विख्यात नागपुर महाराष्ट्र का तीसरा, भारत का 13वां और विश्व का 114वां सबसे बड़ा शहर है। इस शहर के नामकरण पर दो मान्यताएँ हैं- 1. यहाँ साँपों की एक प्रजाति ‘नाग’ की बाहुल्यता थी, जिस कारण इसका नाम नागपुर पड़ा। 2. इस शहर से बहने वाली ‘नाग’ नदी के कारण इसका नाम नागपुर पड़ा।

इसे भी पढ़ें 👉 श्रावस्ती क्यूँ प्रसिद्ध है (Shravasti Kyun Famous Hai)?

नागपुर किन बातों के लिए प्रसिद्ध है (What is Nagpur famous for)?

A- पर्यटन की दृष्टि से

Santaron ki Nagari ‘Nagpur’ पर्यटन की दृष्टि से महाराष्ट्र के अग्रणी शहरों में से एक है। यहाँ के निर्मित अनेक मंदिर, ऐतिहासिक इमारतें और झील यहाँ आने वाले सैलानियों के लिए आकर्षण का केंद्र हैं। इनमें से कुछ प्रमुख स्थानों का जिक्र यहाँ किया गया है।

1- सेमिनरी पहाड़ी (Seminary Sill): प्रकृति प्रेमियों के लिए एक आदर्श गंतव्य

famous in Nagpur

स्थान- सेमिनरी पहाड़ियाँ, नागपुर, महाराष्ट्र

सेमिनरी हिल नागपुर में सबसे अधिक देखी जाने वाली जगहों में से एक है। सेमिनरी हिल्स एक ऐसी श्रृंखला है जहाँ की सुंदरता और पहाड़ियों की चोटी से शहर के मनोरम दृश्य आपको मंत्रमुग्ध कर देंगे। इन पहाड़ियों का नाम सेंट चार्ल्स सेमिनरी (St. Charles Seminary) के नाम पर रखा गया है। पहाड़ियों पर प्रकृति प्रेमियों और बैकपैकर्स के लिए एक आदर्श गंतव्य के साथ-साथ समान रूप से कई आकर्षण भी स्थित हैं जिनमें जापानी गुलाब उद्यान (Japanese Rose Garden), सतपुड़ा बॉटनिकल गार्डेन और द लेडी ऑफ लूर्डेस ग्रोटो शामिल हैं। पहाड़ियों में पैदल रास्तों को उकेरा गया है और स्थानीय लोग सुबह या शाम की सैर पर जाना पसंद करते हैं।

2- दीक्षाभूमि (Deekshabhoomi): पवित्र स्थान एवं स्मारक

famous in Nagpur

स्थान- अंबाज़री रोड, नागपुर, महाराष्ट्र

दीक्षाभूमि नागपुर में घूमने के लिए शीर्ष स्थानों में से एक है। बौद्ध अनुयायियों के लिए यह एक पवित्र स्थान है। यहाँ स्थित धम्म चक्र स्तूप नागपुर में एक लोकप्रिय बौद्ध स्मारक है। यह स्तूप प्रसिद्ध वास्तुकार शेओ दान मल (Sheo Dan Mal) द्वारा निर्मित किया गया, जो सांची स्तूप से प्रेरित है। एक पूर्ण वास्तुशिल्प चमत्कार के रूप में यह स्तूप धौलपुर बलुआ पत्थर व ग्रेनाइट से बना है और पूरी संरचना 120 फीट ऊंची है। इस स्थान पर डॉ. भीमराव अम्बेडकर की स्मृति में एक मेमोरियल स्थापित  किया गया है, इसके अलावा यहाँ बुद्ध की एक कांस्य प्रतिमा और केंद्र में एक पवित्र वृक्ष स्थित है। इस जगह को सबसे शांत जगह के रूप में जाना जाता है। इस स्थान पर अशोक विजय दशमी के दौरान लोगों का एक बड़ा जमावड़ा देखने को मिलता है। इस दौरान लोग बौद्ध धर्म की दीक्षा ग्रहण करने आते हैं।

3- रामटेक मंदिर (Ramtek Temple): एक ऐतिहासिक मंदिर

famous in Nagpur

स्थान- रामटेक गाँव, नागपुर, महाराष्ट्र

रामटेक मंदिर नागपुर का एक प्रसिद्ध मंदिर है, जिसे अक्सर एक प्रमुख पर्यटक आकर्षण माना जाता है। 18वीं शताब्दी में मराठा शासक रघुजी भोंसले ने एक युद्ध जीता और इस मंदिर के निर्माण का आदेश दिया। किंवदंती है कि यह वह स्थान है जहाँ भगवान राम अयोध्या से वनवास के दौरान कुछ समय तक ठहरे हुए थे। रामायण से जुड़े होने के कारण यह स्थान हिंदू श्रद्धालुओं के लिए एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। इस जगह को घूमने के लिए सबसे अच्छा समय नवंबर माह के दौरान माना जाता है, इसी समय यहाँ एक पखवाड़े तक चलने वाला कालिदास उत्सव आयोजित होता है। यह स्थान जैन मंदिर के लिए भी जाना जाता है जिसमें जैन तीर्थंकर की मूर्तियां हैं।

4- अंबाज़री झील (Ambazari Lake): पिकनिक के लिए एक सुंदर स्थान

santaron ki Nagari 'Nagpur'

स्थान- अंबाज़री, नागपुर, महाराष्ट्र

अंबाज़री झील, santaron ki Nagari ‘Nagpur’ की सभी 11 झीलों में सबसे बड़ी झील है। चूंकि यह कई आम के पेड़ों से घिरा हुआ है, इसलिए इस झील का नाम अंबाज़री (मराठी में “अम्बा” का अर्थ “आम”) पड़ा है। झील का निर्माण नागपुर वासियों के लिए पानी के स्रोत के रूप में उपयोग के लिए किया गया था। झील कुछ खूबसूरत बगीचों से भी घिरी हुई है जहां युगल जोड़ों से लेकर प्रियजनों, परिवार के सदस्यों के साथ पिकनिक मनाने के लिए सबसे सुंदर स्थान है। यहाँ जल विहार के लिए नौकाएँ चलती हैं जिनकी सहायता से भ्रमण का आनंद लिया जा सकता है। बच्चों के खेलने के लिए एक छोटा खेल का मैदान भी मौजूद है।

5- सिताबुल्दी किला (Sitabuldi Fort): कठिन संघर्ष के साक्ष्यों में से एक

famous in Nagpur

स्थान- माधा कॉलोनी, नागपुर, महाराष्ट्र

इस किले का अत्यधिक ऐतिहासिक महत्व है। यह ब्रिटिश सेना और अप्पासाहेब के बीच कई प्रसिद्ध लड़ाइयों का स्थल रहा है, जो बहुत ही कड़े संघर्षों के बाद हार गए थे। सीताबुल्दी के रणनीतिक बिंदु से ब्रिटिश सेना इतनी चकित थी कि उन्होंने इसे एक किले में बदलने का फैसला किया। स्वतंत्रता के बाद, किला भारतीय सेना की 188वीं पैदल सेना बटालियन का आधार बन गया है। इस किले को महाराष्ट्र दिवस, स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस पर समान रूप से जनता के लिए खोल दिया जाता है।

6- नागज़िरा वन्यजीव अभयारण्य (Nagzira Wildlife Sanctuary): वन्य जीवन के लिए वरदान

Nagpur 'संतरों की नगरी' | नागपुर किन बातों के लिए प्रसिद्ध है ? best places to visit in Nagpur 2022 | Orange City
this image represents wildlife

स्थान- नागपुर के निकट, महाराष्ट्र

यह छोटा वन्यजीव अभयारण्य 152 वर्ग किमी के क्षेत्र में फैला हुआ है जो नागपुर में घूमने के लिए निकटतम स्थानों में से एक है। क्षेत्रफल की दृष्टि से छोटा होने के बावजूद यह वन्यजीव अभयारण्य बाघ, तेंदुआ, जंगली बिल्ली, भालू, लकड़बग्घा, भेड़िये, गौर और सांभर जैसे विविध वन्यजीवों का घर है। वर्ष 2012 में यहां बाघों के संरक्षण की परियोजना शुरू हुई जिस कारण अभयारण्य को दूसरे रिजर्व में मिला दिया गया। प्रचुर मात्रा में वनस्पतियों और वन्य जीवन के अलावा, यह स्थान कई प्रजाति के पक्षियों, आश्चर्यजनक किस्म के सरीसृपों और उभयचरों को भी आश्रय प्रदान करता है।

7- जीरो माइल मार्कर (Zero Mile Marker): प्रतिष्ठित स्मारक

famous in Nagpur

स्थान- वर्धा रोड, सिविल लाइंस, नागपुर, महाराष्ट्र

जीरो माइल मार्कर (Zero Mile Marker) नागपुर का एक लोकप्रिय स्मारक है। इसका निर्माण अंग्रेजों द्वारा great trigonometrical survey of India के लिए किया गया था। स्मारक में एक पाषाण स्तंभ जो शून्य मील के निशान का प्रतिनिधित्व करने वाला है और पाषाण की ही चार घोड़ों की आकृतियां बनी हैं। हालांकि, ऐसा कोई साक्ष्य नहीं है जो यह बताए कि यह भारत का केंद्र है लेकिन अंग्रेजों ने दूरी की गणना के लिए इस मार्कर का इस्तेमाल किया।

इन सभी स्थानों के अलावा और भी अन्य स्थान हैं जो Santaron ki Nagari ‘Nagpur’ को पर्यटन की दृष्टि से प्रसिद्ध बनाते हैं जैसे- गरीब नवाज़ मस्जिद, ड्रैगन पैलेस बौद्ध मंदिर, रामधाम, फूटाला झील, स्वामीनारायण मंदिर, मरकन्द आदि।

इसे भी पढ़ें 👉 Top 10 most visited places in the World । दुनिया में 10 सबसे अधिक घूमी जाने वाली जगहें

B- अन्य दृष्टि से

पर्यटन के अलावा और भी चीजें हैं जो नागपुर को मशहूर बनाती हैं। जैसे-

1- चर्चित हस्तियाँ जो नागपुर की भूमि से जुड़ी हैं-

रोहित शर्मा (Rohit Sharma)   – क्रिकेटर (भारतीय ODI व T20I क्रिकेट टीम के मौजूदा कप्तान)
ज्योति अमगे (Jyoti Amge)   – अभिनेत्री (Guinness World Records के अनुसार दुनिया की सबसे छोटी जीवित महिला)
राजकुमार हिरानी (Rajkumar Hirani)   – प्रसिद्ध फिल्म निर्देशक
सुभाष घई (Subhash Ghai)   – प्रसिद्ध फिल्म निर्देशक एवं निर्माता
रोनित रॉय (Ronit Roy)   – प्रसिद्ध टीवी कलाकार
शरमन जोशी (Sharman Joshi)   – प्रसिद्ध बॉलीवुड अभिनेता 
अल्ताफ़ रजा (Altaf Raja)   – मशहूर गायक
नितिन गडकरी (Nitin Gadkari)   – राजनीतिज्ञ (भारत के वर्तमान सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री)
जस्टिस शरद अरविंद बोबडे (Sharad Arvind Bobde)   – भारत के 47वें CJI

इनके अलावा भी नागपुर से जुड़ी कई चर्चित हस्तियाँ हैं।

2- भारतीय वायु सेना के Maintenance-Command का मुख्यालय-

भारतीय सशस्त्र बलों के लिए नागपुर शहर एक महत्वपूर्ण केंद्र है। भारतीय वायु सेना के मेंटीनेंस-कमांड का मुख्यालय शहर के वायुसेना नगर में स्थित है। इस केंद्र में कई MI-8 हेलीकाप्टर और IAF वाहक IL-76 हैं। इस छावनी में, अन्य कई महत्वपूर्ण सैन्य इकाइयाँ जैसे कि सैन्य कानून संस्थान, सेना डाक सेवा केंद्र और सैनिकों के लिए अस्पताल भी हैं।

3- नागपुर से गुजरने वाले मुख्य राजमार्ग-

राष्ट्रीय राजमार्ग 44 (NH-44), राष्ट्रीय राजमार्ग 47 (NH-47) और राष्ट्रीय राजमार्ग 53 (NH-53)

इसे भी पढ़ें 👉 Types of Indian Roads | भारतीय सड़कों के प्रकार

4- रेलमार्ग-

नागपुर जंक्शन महाराष्ट्र राज्य के प्रमुख रेलवे स्टेशनों में से एक है। यहाँ से देश के कई महानगरों के लिए सीधी ट्रेनें प्रस्थान करती हैं। यह देश के मध्य रेलवे का बड़ा और व्यस्त रेल मण्डल(division) है। इसके अलावा उपगरीय परिवहन में एक हिस्सा नागपुर मेट्रो का भी जुड़ा है।

5- वायुमार्ग-

नागपुर में शहर के केंद्र से कुछ दूर देश के प्रमुख अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डों में से एक डॉ॰ बाबासाहब आंबेडकर अंतर्राष्ट्रीय विमान क्षेत्र स्थित है, जिसे सोनेगांव हवाईअड्डा नाम से भी जाना जाता है।

6- उच्च शिक्षण एवं संस्थान-

  • नागपुर में इंजीनियरिंग, मेडिकल और मैनेजमेंट से जुड़े कई प्रमुख महाविद्यालय हैं।
  • शहर के चार प्रमुख विश्वविद्यालयों में नागपुर विश्वविद्यालय एक बड़ा विश्वविद्यालय है।
  • इसके अलावा कला और साहित्य से भी जुड़े कई संस्थान इस महानगर में स्थापित हैं।
  • रमन विज्ञान केंद्र (Raman Science Centre) विज्ञान और तकनीकी से जुड़ी ज्ञान की कई सामग्रियों का भंडार है।

कुल मिलाकर यह कहा जा सकता है कि उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए santaron ki Nagari ‘Nagpur’ एक बड़ा जंक्शन है, जहाँ देश भर के विद्यार्थी शिक्षा ग्रहण करने आते हैं।

FAQs 

1- नागपुर को ‘संतरों का शहर’, ‘नारंगी शहर’ या ‘Santaron ki nagari’ क्यूँ कहा जाता है?

उत्तर- नागपुर संतरे का एक प्रमुख व्यापार केंद्र है इसलिए इसे नारंगी शहर के रूप में जाना जाता है। वर्षों से यह, देश में अपने नारंगी बागानों के लिए प्रसिद्ध है जहाँ से लगभग 70% संतरे का कारोबार होता है। यहाँ उत्पादित संतरे की गुणवत्ता उत्कृष्ट है और दुनिया भर में निर्यात किया जाता है।

2- नागपुर में खरीदारी की दृष्टि से कौन-कौन सी चीजें प्रसिद्ध हैं?

उत्तर- नागपुर के संतरे, हल्दीराम की मिठाई, सूती कपड़े, नारंगी उत्पाद और हस्तशिल्प। 

3- नागपुर को टाइगर कैपिटल (tiger capital) क्यों कहा जाता है?

उत्तर- यहाँ कुल 13 टाइगर रिजर्व (13 Tiger Reserve) हैं जोकि कि देश के किसी भी अन्य स्थान से अधिक है जिस कारण केंद्र सरकार ने नागपुर को भारत की टाइगर कैपिटल या tiger getaway के रूप में बढ़ावा दिया और इसीलिए नागपुर को टाइगर कैपिटल कहा जाता है। 

अन्य पढ़ें 👇

दोस्तों, इस लेख को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद, आशा है कि Orange City ‘Nagpur’ के बारे में साझा की गई जानकारी आपको पसंद आई हो। यदि आप को यह लेख अच्छा लगे तो इसे share जरूर करें और इसी तरह के अन्य पोस्ट पढ़ने के लिए आपकी अपनी ब्लॉग HindiMain.co.in को subscribe करें।

related searches-

नागपुर किन बातों के लिए प्रसिद्ध है ? नागपुर को संतरों का शहर क्यूँ कहा जाता है ? नागपुर के बारे में कुछ खास बातें | What is Nagpur famous for ? Nagpur ko santaron ka shehar kyun kaha jata hai ? Orange City | about Nagpur | famous places in Nagpur | नागपुर में क्या प्रसिद्ध है ? what is famous in Nagpur ? Nagpur mein kya prasiddha hai ?

अपना प्रश्न पूछें या सलाह दें

%d